नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट पे, महाभारत का युद्ध धर्म की स्थापना के लिए हुआ था | इस युद्ध में लाखों योद्धाओं की मृत्यु हो गयी थी | युद्ध समाप्त हो जाने के बाद चारों ओर लाशों का अंबार लगा हुआ था केवल विलाप के स्वर ही सुनाई दे रहे थे |

महाभारत के युद्ध में मारे गये सभी योद्धाओं का अंतिम संस्कार युधिष्ठिर ने कराया था | लेकिन एक ऐसा भी समय आया जब मारे गये योद्धाओं की पत्नियों ने चिता में कूद कर आत्मदाह कर लिया था | यह भयावह दृश्य अपनी आखों के सामने देखकर युधिष्ठिर का हृदय ग्लानि से भर उठा |

इनमें से कुछ विधवाओं ने भगवान कृष्ण से मुक्ति की प्रार्थना की थी | कई स्त्रियों ने वैराग्य धारण कर लिया | भगवान कृष्ण ने समस्त विधवाओं से गंगा नदी में डुबकी लगाने के लिए कहा ताकि उन्हें समस्त बंधनों से मुक्ति मिल सके और जीवन के पश्चात वे सभी मुक्त हो सकें |

उम्मीद है दोस्तो आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी अच्छी लगी तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर करें. और आगे भी ऐसी ही ज्ञानवर्धक जानकारी पाने के लिए हमारे Facebook Page को like करना ना भुले.