Whatsapp Status - Shayari - Tips Tricks

ये है खूंखार और जानलेवा पौधे, जो कभी भी कर सकते हैं हमला - Health Tips

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट पे, वनस्पतियों के इस विचित्र संसार में अनेक आश्चर्यजनक अजूबे भरे पड़े हैं। उन्हीं में से एक अजूबा है मांसाहारी पौधा यह अद्भुत संसार का, लेकिन जरा बचकर रहिए। क्योंकि इनमें से कुछ ऐसे भी पौधे हैं जो दिखते तो बड़े ही सुंदर हैं। लेकिन इनकी प्रकृति जानलेवा है। आज हम आपको बताने वाले हैं कुछ ऐसे ही पौधों के बारे में जो दिखने में तो सुंदर है। लेकिन यह पौधे साधारण पौधे नहीं बल्कि शिकारी पौधे हैं। या फिर हम कह सकते हैं मांसाहारी पौधे हैं।

इस दुनिया में ऐसे शिकारी या जानलेवा पौधों की 600 से भी ज्यादा प्रजातियां है। दरअसल यह शिकारी पौधे जिन स्थानों पर पाए जाते हैं। वहां उन्हें पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व और न्यूट्रल्स नहीं मिल पाते हैं। अपने इन्हीं तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए यह पौधा जीवों का शिकार करते हैं। तो आइए जानते हैं।

NEPENTHES

यह एक किट भक्षी पौधा है। यह पौधा नम या दलदली जगहों पर उगते हैं। घड़े के आकार की होने के कारण इसका हिंदी नाम घटपर्णी है। यह कीट भक्षी पौधे ना सिर्फ कीड़ों का शिकार करते हैं। बल्कि मेंढक, चूहा, गिलहरी, छिपकली आदि जीवो का भी शिकार करते हैं।

GENLISEA

यह अधिकतर ऐसे क्षेत्रों में पाया जाता है। यह अर्ध जलीय क्षेत्रों में यह कीट पौधे ज्यादा पनपते हैं। यह एक पीले फूल वाला घास जैसा पौधा है। इसमें दो अलग-अलग प्रकार की पत्तियां पाई जाती है। एक जमीन पर जिसे हम आसानी से देख सकते हैं और एक जमीन के अंदर जो जड़ों का काम करती है। यह पत्तियां पानी को शोषित करती है साथ ही इन अंडर ग्राउंड पत्तियों का खास काम है। छोटे कीटों को लुभाना, आकर्षित करना और फिर उन्हें खा लेना।

SARRACENIA

यह पौधा अपने नीचले भाग में एक मीठा जूस बनाता है। इस मीठे पदार्थ की लालच में कीड़े मकोड़े इसके ऊपरी मुहाने से होते हुए निचले भाग तक चले जाते हैं। और फिर वह वहां गिरकर फंस जाते हैं। इस पौधे के ऊपरी भाग पर एक ढक्कन होता है। जो बारिश के पानी को अंदर जाने से रोकता है। इसमें मौजूद कीड़े मकोड़े को गला कर इसके पोषक तत्व जैसे कैल्शियम और मैग्नीशियम चूस लेता है।

उम्मीद है दोस्तो आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी अच्छी लगी तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर करें. और हमारे Facebook Page को like करना ना भुले.

Post a comment

0 Comments