टीचर – अच्छा तो बच्चों
आज मैं तुम्हारा टेस्ट लूंगी
टीचर – बंटू कबीर दास का एक दोहा सुनाओ
बंटू – कबीर दास है बाबरो, दोहा गयो बनाय |
खुद तो कबको चली गयो, हमको गयो फसाय ||

टीचर बेहोश ? ?