हिम्मत इतनी थी की समुंदर भी पार कर सकते थे,
मजबूर इतने हूए की दो बूँद आँसूओ ने डूबो दिया हमें !!