सारी उम्र आँखों में एक सपना याद रहा,
सदिया बीत गयी वो लम्हा याद रहा,
जाने क्या बात है आप में,
सारी महफ़िल भूल गए बस वो पल याद रहा |