वो रिश्ता क्या जिसको निभाना पड़े,
वो प्यार क्या जिसको जाटा ना पड़े,
प्यार तो एक खामोश एहसास है,
वो एहसास क्या जिसको लफ़ज़ो मैं बताना पड़े!