हर कोई तुमसा ख़ास नहीं होता,
जो ख़ास होता है वोह कभी पास नहीं होता,
यकीन ना आये तो चाँद को ही देखो,
जिसके दूर होते हुए भी दूरी का एहसास नहीं होता |