Whatsapp Status - Shayari - Tips Tricks

जीव पत्थर बन जाते है इस झील का पानी पीते ही - Amazing Places


जीव पत्थर बन जाते है इस झील का पानी पीते ही

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट पे, दोस्तों इस दुनिया में कई रहस्यमयी जगह आज भी ऐसी है जिनसे हम अनजान है। दोस्तों प्रकृति ने हमें लाखों नदी, तालाब और झीलें दी है, जिनका इस्तेमाल अपने जीवन यापन में भी करते हैं। लेकिन दोस्तों आज हम आपको एक ऐसी झील के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसका पानी पीते हैं जीव, पत्थर में बदल जाते हैं।

दोस्तो आज हम तंजानिया की नाट्रन झील के बारे में बात कर रहे है , जो पूरी दुनिया में प्रसिद्द है। जांच करने पर पाया गया कि नाट्रन झील का पानी बहुत ही क्षारीय है। इसमें क्षार की मात्र हमेशा 10 या उससे अधिक रहती है। इतने अधिक मात्रा में क्षर होने की वजह से इस झील का पानी बहुत ही कठोर होता है। ये पानी इतना खतरनाक है कि इसके पास जाने भर से ही आँखों और त्वचा में जलन होने लगती है।

बता दे कि इस झील के पानी का क्षारीय होने का कारण है सोडियम लवणों की बहुत ज्यादा मात्रा। दोस्तो विश्व भर के सबसे प्रसिद्द फोटोग्राफर यहाँ आते है और इस झील के आस पास पत्थर बने जीवों की तस्वीरें खींचते है, जो इस झील का पानी पी कर पत्थर बने हैं। बताया जाता है कि यह झील शरीर को ममी बनाने वाले रसायनों का प्राकृतिक स्त्रोत है। मिस्र में मृत शरीरों को ममी बनाने के लिए जिन रसायनों का उपयोग किया जाता था, ठीक उसी प्रकार के रसायन आसपास के पहाड़ों से इस झील के पानी में आकर मिल जाते है। जिस वजह से इन रसायनों वाले पानी के सम्पर्क में आने से पशु पक्षी ममी में परिवर्तित हो जाते है।

बता दे कि प्रसिद्द फोटोग्राफर रिक ब्रांड्ट ने इस झील के तट पर बहुत से पक्षियों और छोटे मोटे जीवों को पत्थर के रूप में देखा है। इन जीवों की शारीरिक सरंचना वैसी की वैसी ही थी जैसी इनके जिन्दा होने के समय थी। रिक को ये पता नहीं चला कि ये जीव कब और कैसे इस तरह पत्थर में परिवर्तित हुए, लेकिन उन्होंने अपनी किताब के माध्यम से इन पशु पक्षियों की तस्वीरें दुनिया को दिखाई तो वो किसी को भी हैरान रह गए।

उम्मीद है दोस्तो आपको Hp Video Status की यह जानकारी अच्छी लगी होगी अच्छी लगी तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर करें. और आगे भी ऐसी ही ज्ञानवर्धक जानकारी पाने के लिए हमारे Facebook Page को like करना ना भुले.

Post a comment

0 Comments